ALL राजनीति मनोरंजन क्राइम राष्ट्रीय राज्यों से अज़ब गज़ब जॉब अलर्ट
Corona virus:पाकिस्तान रच सकता है कोरोना फैलाने की साजिश : बीजेपी सांसद...
April 13, 2020 • ADMIN • राष्ट्रीय

 

                                       

कुशीनगर: बीजेपी (BJP) के कुशीनगर से सांसद विजय दुबे ने कहा है कि पाकिस्तान कुशीनगर सहित नेपाल सीमा से सटे भारत के अन्य जिलों में (covid-19) कोरोना का संक्रमण फैलाने की सजिश रच सकता है। सांसद विजय ने मीडिया से बात करते हुए कहा, "नेपाल सीमा कुशीनगर जिले से सटी हुई है। यहां के हरिहरपुर, नारायनपुर, मरिचहवा आदि गांवों की पगडंडी के सहारे कुशीनगर आया जा सकता है। नेपाल का एक गांव सुस्ता और परसा के जंगल भी यहां से लगे हैं। परसा के जालिम मुखिया मौलवी की मदद से यहां पर कुछ लोग (covid-19) कोराना संक्रमण फैलाने की सजिश रच रहे हैं। https://navbharattimes.indiatimes.com/ इसको लेकर खुफिया रिपोर्ट भी है, इस कारण मैंने अलाधिकारियों को अलर्ट कर दिया है।"


             Click Here To Download Arogya Setu Aap

 

उन्होंने आगे कहा, "नेपाल के पारसा जिले के जालिम मुखिया के संरक्षण में जो 40 लोग क्वारंटीन कराए गए हैं, वे नेपाल के नहीं हैं, बाहरी हैं। इन्हीं के जरिए वह हमारे यहां (covid-19) संक्रमण फैलाने की साजिश रच सकता है। नेपाल की सीमा चीन और भारत से लगी हुई है। इस कारण इससे खतरा लग रहा है। उधर, जालिम मुखिया ने 40 लोगों को अपनी मस्जिद में एहतियात के तौर पर रोका है। मुझे अशंका है कि वे लोग भारत में घुस कर कोरोना फैला सकते हैं।"

 


                  कोरोना (covid-19) से बचना है तो लॉकडाउन का पालन करें

 


दुबे ने आशंका जताते हुए कहा, "इन्हीं पगडंडियों के रास्ते संक्रमण फैलाया जा सकता है। नेपाल के पारसा जिले के सेरवा थाना के जालिम मुखिया के संरक्षण में (covid-19) कोरोना संदिग्ध एकत्र भी किए गए हैं।"उन्होंने आगे कहा, "हालांकि, हमारी पुलिस ने बार्डर को सील कर रखा है फिर भी ये लोग पगडंडियों के सहारे यहां पहुंच सकते हैं। इस कारण मैंने डीएम और एसपी को अलर्ट कर दिया है। अभी कल भी एक नेपाली नागरिक यहां पकड़ा गया है।"

 


                  भारत में कोरोना मरीजों की जानकारी के लिए यहां क्लिक करें।

 


कुशीनगर के पुलिस अधीक्षक विनोद कुमार मिश्र ने कहा, "जिले की सीमाओं को मजबूती के साथ सील कर दिया गया है। पैदल गस्ती की जा रही है। जहां नांव से आ सकते हैं, वहां पर निगरानी हो रही है। पगडंडियों को भी अच्छे से जांचा जा रहा है।"